Shok Samachar

Tribute Paid to Sh. Tilak Raj Kashyap

प्रधान तिलक राज कश्यप को दी गई अंतिम श्रद्घांजलि

पगड़ी की रस्म करते हुए चारों बेटे

शोक सभा में श्रद्घांजलि देने वाले साथी

जालन्धर, 22-5-2021 (क.क.प.) – जालन्धर शहर के मशहूर मिन्टू ढाबा के मालिक, कश्यप क्रांति पत्रिका के बहुत ही सहयोगी साथी, कश्यप राजपूत समाज के अग्रणी समाज सेवक, हर समय समाज सेवा को तत्पर, कांग्रेस पार्टी के अग्रणी, कबीर नगर एरिया के प्रधान श्री तिलक राज जी अपनी संसारिक यात्रा पूरी करते हुए 10 मई 2021 को सुबह अचानक स्वर्ग सिधार गए थे। आज पिपलेश्वर मंदिर, कबीर नगर में उनको अंतिम श्रद्घांजलि भेंट की गई।
उनके परिवार की ओर से अपने पिता की अंतिम अरदास व रस्म पगड़ी का कार्यक्रम कोरोना नियमों का पालन करते हुए पिपलेश्वर मंदिर में किया गया। गरुड़ पुराण के पाठ के साथ उनको अंतिम श्रद्घांजलि दी गई। श्रद्घांजलि देने के लिए कश्यप समाज के बहुत से गण्य-मान्य साथी, वर्कशाप चौक के बहुत से व्यापारी, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधी, कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधी, रिश्तेदार और सज्जन शामिल हुए। कश्यप क्रांति पत्रिका के मालिक नरेन्द्र कश्यप, कश्यप राजपूत मैंबर्स एसोसिएशन से राज कुमार कश्यप, कश्यप राजपूत सभा गोपाल नगर से प्रधान गिरधारी लाल, राज कुमार राजू, प्रेम टाक, बलदेव राज बोबी, प्रमोद कश्यप, पवन कश्यप आदि ने तिलक राज को श्रद्घासुमन अर्पित किए। मास्टर मनोहर लाल ने स्टेज संचालन किया।
गरुड़ पुराण के पाठ की समाप्ति पर तिलक राज के चारों बेटों सुखजिन्द्र पाल, सूरज प्रकाश, राकेश कुमार और बलदेव राज को पगड़ी की रस्म की गई। स्वर्गीय तिलक राज कश्यप के परिवार की ओर से शोक सभा में शामिल होने वालों के लिए बहुत ही अच्छा लंगर का प्रबंध किया गया था। श्री तिलक राज कश्यप एक बहुत ही मिलनसार और जिंदादिल इंसान थे। इनके अचानक स्वर्गवास होने से जहां परिवार को बहुत नुक्सान हुआ है, वहीं कश्यप समाज ने भी एक बहुत ही अच्छा साथी गंवा दिया है, जिसकी कमी कभी पूरी नहीं की जा सकती है। कश्यप क्रांति पत्रिका की ओर से जालन्धर शहर के जैन पैलेस में करवाए गए पहले परिवार सम्मेलन में स्वर्गीय श्री तिलक राज कश्यप जी ने बहुत सगयोग दिया था और उसके बाद हमेशा उनका सहयोग बना रहा। कश्यप समाज के हरेक काम में वह हमेशा बढ़-चढ़ कर सहयोग करते थे। इनके पिता स्वर्गीय श्री गुरबचन लाल जी भी कश्यप समाज जालन्धर के प्रधान रह चुके हैं और शेखां बाजार में कश्यप समाज के जंज घर में इनका बहुत योगदान रहा है।
दु:ख की इस घड़ी में हम कश्यप क्रांति पत्रिका, कश्यप राजपूत मैंबर्स एसोसिएशन (करमा) टीम की तरफ से दिवंगत आत्मा को श्रद्घासुमन अर्पित करते हैं और भगवान से प्रार्थना करते हैं कि वह स्वर्गीय श्री तिलक राज कश्यप की आत्मा को अपने चरणों में निवास दे और परिवार को इस सदमे को सहने की शक्ति प्रदान करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *