कश्यप क्रांति पत्रिका व कश्यप राजपूत वैबसाइट का मनाया स्थापना दिवस

कश्यप क्रांति के स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर केक काट कर खुशी मनाते हुए मैंबर्स

जालन्धर, २८-१०-२०२० (गुरिन्द्र कश्यप) – आज से 20 साल पहले सन् 2000 में कश्यप समाज को आपस में जोडऩे वाली और समाज में क्रांति लाने वाली पत्रिका कश्यप क्रांति की शुरुआत हुई थी। स्वर्गीय श्री मेजर सिंह बडग़ोता ने अक्तूबर 2000 में कश्यप क्रांति पत्रिका के पहले अंक की शुरुआत की थी। आज से एक साल पहले नए समय के साथ आगे बढ़ते हुए कश्यप क्रांति पत्रिका के मालिक श्री नरेन्द्र कश्यप ने सोशल मीडिया और इंटरनैट युग के साथ कदम मिलाते हुए कश्यप समाज को आधुनिक रूप देने के लिए www.kashyaprajput.com वैबसाइट की शुरुआत की। इस वैबसाइट पर कश्यप समाज से संबंधित हर जानकारी उपलब्ध करवाने की कोशिश की जा रही है। यहां पर कश्यप समाज का इतिहास, उनके शहीदों की कुर्बानी, समाज के परिवारों की जानकारी, जठेरों/देहरियों की जानकारी व उनके रीति-रिवाज, समाज में काम कर रही सभाओं और संस्थाओं की पूरी जानकार व उनके सदस्यों के बारे में विवरण, बच्चों के रिश्तों के लिए जानकारी व समाज में होने वाली गतिविधियों की जानकारी दी जा रही है। समाज के परिवारों में यह बहुत पसंद की जा रही है और नई पीढ़ी इससे जुड़ कर बहुत गर्व महसूस कर रही है।
आज कश्यप क्रांति पत्रिका का 20वां स्थापना दिवस और http://www.kashyaprajput.com वैबसाइट का पहला स्थापना दिवस कश्यप क्रांति पत्रिका के दफ्तर में मनाया गया। इस खुशी के मौके पर कश्यप क्रांति पत्रिका के मालिक श्री नरेन्द्र कश्यप, मुख्य संपादक श्रीमति मीनाक्षी कश्यप, मीडिया इंचार्ज श्री गुरिन्द्र कश्यप, कश्यप राजपूत मैंबर्स एसोसिएशन के लाइफ टाइम मैंबर श्री सुशील कश्यप, कार्यकारिणी सदस्य श्री राज कुमार, लक्की संसोया, अशोक टांडी, चूंदगूंद जठेरों की कमेटी के प्रधान श्री सुरिन्द्र कुमार, बिहाल जठेरों की कमेटी के प्रधान स. रतन सिंह बिहाल, कश्यप राजपूत महासभा जालन्धर इकाई के चेयरमैन स. परमजीत सिंह, कश्यप राजपूत समाजिक क्रांति संगठन के चेयरमैन श्री प्रमोद कुमार व लेडीका विंग से श्रीमति सुनीता शामिल हुए। सबसे पहले कश्यप क्रांति के संस्थापक स्वर्गीय श्री मेजर सिंह बडग़ोता को श्रद्धांजिल दी गई और उनकी कश्यप समाज के प्रति सेवाओं को याद किया गया। इसके बाद सभी मेहमानों ने मिलकर केक काटा और बधाईयां दी। सभी सदस्यों ने अपने-अपने विचार प्रस्तुत करते हुए कहा कि इस वैबसाइट से समाज को बहुत फायदा होने वाला है। सभी को हर तरह की जानकारी अब घर बैठे या रास्ते में चलते हुए मोबाइल पर मिल सकती है। इससे समाज का इतिहास संभालने का बहुत बड़ा और अच्छा प्लेटफार्म मिल रहा है। सभी शामिल सदस्यों ने इसके लिए अपना हर तरह का सहयोग देने का और समाज को जोडऩे का ऐलान किया।

Open chat
Hello,
How can we help you?